क्रिकेट बैटिंग एकाग्रता कैसे बढ़ाएं | how to improve cricket batting concentration

Spread the love

आज हम आपसे शेयर करेंगे कि क्रिकेट बैटिंग कंसंट्रेशन कैसे सुधारें।  इस पोस्ट में हम आपको कुछ ऐसे खेलों की जानकारी देंगे जिनके जरिए आप क्रिकेट में अपनी बल्लेबाजी का  कंसंट्रेशन लेवल बढ़ा सकते हैं।

Table of Contents

क्रिकेट बैटिंग कंसंट्रेशन कैसे बढ़ाएं

क्रिकेट बल्लेबाज़ी या गेंदबाज़ी में कई बार एकाग्रता की कमी की वजह से खिलाडी अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं दे पाते हैं और नतीजा उनकी परफॉर्मन्स ख़राब और उसका सीधा असर उनकी टीम पर पड़ता है और साथ ही खिलाडी के करियर पर भी बुरा असर पड़ता है। एकाग्रता बढ़ने के लिए कुछ अन्य खेलों के द्वारा आपको मदद मिल सकती है। कृपया निचे दिए गए बिंदुओं को ध्यान से पढ़ें इनमे से कोई आपके काम भी आ सकता है।

टेबल टेनिस खेल कर बढ़ा सकते हैं कंसंट्रेशन

जी हां जी आप अपना कंसंट्रेशन लेवल बढ़ाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको टेबल टेनिस खेलना चाहिए। पूर्व बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर अक्सर इस खेल का इस्तेमाल करते थे और आज भी कई भारतीय बल्लेबाज तथा गेंदबाज अपने खाली समय में टेबल टेनिस खेल कर अपनी एकाग्रता को बढ़ाने की कोशिश करते हैं। यदि आप भविष्य में कभी क्रिकेटर बने तो आप देखेंगे कि खिलाड़ियों के जिम में अक्सर एक कॉर्नर पर टेबल टेनिस का इंतजाम होता है। टेबल टेनिस खेलने से पैरों के मूवमेंट में सुधार आता है। टेबल टेनिस की गेंद छोटी और हल्की होती है जो खिलाड़ी इस पर काबू पा लेते हैं तो उनके खेल में भी काफी सुधार आने लगता है। इसके लिए जरूरी है कि आप टेबल के नजदीक से और टेबल के चार से पांच कदम दूर से भी खेलना सीखें ताकि आप गेंद को हर तरीके से कंट्रोल कर सके और जब आप इतनी छोटी बॉल पर एकाग्रता से प्रहार कर पाओगे तो यह स्किल आपको क्रिकेट की गेंद पर प्रहार करने में काम आती है ।

स्विमिंग करने से बढ़ता है ऑल ओवर परफॉर्मेंस

यदि आप स्विमिंग करते हैं तो इससे एकाग्रता में काफी फर्क पड़ता है। स्विमिंग हमारे शरीर की संपूर्ण एक्सरसाइज के लिए उपयोगी है। स्विमिंग करने से न सिर्फ हमारी एकाग्रता बढ़ती है बल्कि स्टैमिना भी बढ़ता है। यदि आप 2 दिन में एक बार महज आधे से 1 घंटे स्विमिंग करते हैं तो इससे आपके शरीर पर अच्छा प्रभाव पड़ता है वह शरीर की संपूर्ण एक्सरसाइज हो जाती है।

लेमन स्पून कंपटीशन से बढ़ती है एकाग्रता

यूं तो आपने बचपन में एक ना एक बार जरूर लेमन कंपटीशन में हिस्सा लिया होगा। पर क्या आप जानते हैं लेमन स्पून कंपटीशन से एकाग्रता बढ़ाने में भी सहायता मिलती है। आपको करना सिर्फ इतना है कि घर पर एक चम्मच लें और नींबू या नींबू जैसा दिखने वाला या उसके साइज का कोई भी फ्रूट या पदार्थ अपने चम्मच के ऊपर रख लें और इसका निरंतर अभ्यास करें यह आप अकेले भी कर सकते हैं। प्रतिदिन महज 20 मिनट इस अभ्यास को करने से 1 महीने में ही आपके एकाग्रता में काफी फर्क आप महसूस कर पाएंगे।

लॉन टेनिस खेलने से बढ़ती है एकाग्रता

यदि आपके पास लॉन टेनिस खेलने की सुविधा है तो आप जरूर खेलें इससे आपको एकाग्रता बढ़ाने के फायदे के अलावा और भी अन्य फायदे हो सकते हैं। इस खेल से फुटवर्क में काफी सुधार आता है और तेजी भी आती है एक महीना लॉन टेनिस खेलने के बाद आप देखेंगे कि आपके फुटवर्क में पहले से काफी सुधार हुआ है। इसके अलावा आप एल्बो शॉट खेलने में माहिर हो जाएंगे तथा रिवर्स शॉट खेलने में भी आप पाएंगे कि पहले के मुकाबले आपका रिवर्स शॉट ज्यादा मजबूत और ताकतवर हुआ है। आजकल गेंदबाज कई बार स्लो बाउंसर डालते हैं जिसे टेनिस बाउंसर या स्पंजि बाउंसर भी कहते हैं ऐसे में लॉन टेनिस खेलने से आप स्पंजी बाउंस का अच्छी तरह से सामना कर पाएंगे।

घास के गुच्छे में से किसी एक घास को देखें

जब सुबह आप मॉर्निंग वॉक या जोगिंग पर जाते हैं तो अपनी जोगिंग करने के बाद घास के किसी मैदान में बैठ जाएं और शांत मन से सामने की ओर घास के समूह को देखें तथा कोशिश करें कि उस घास के समूह में से एक खास पर खास नजर आप रख पाए ऐसा लगातार 2 से 5 मिनट करने से आपकी एकाग्रता में काफी सुधार होगा। शुरू में आपके आंखों के बीच और माथे के बीच थोड़ा सा दर्द हो सकता है क्योंकि ऐसा करने से आंखों पर जोर पड़ता है पर धीरे-धीरे आप अभ्यस्त हो जाएंगे इस एक्सरसाइज को ज्यादा देर ना करें केवल 2 से 5 मिनट काफी है बाद में आप इसे ज्यादा से ज्यादा 8-10 मिनट तक बढ़ा सकते हैं। प्रतिदिन 5 से 8 मिनट एक्सरसाइज को दोहराने से आपकी एकाग्रता में निश्चित रूप से काफी फायदा मिलेगा।

एक्वेरियम से बढ़ती है एकाग्रता

जी हां एक्वेरियम आपकी एकाग्रता को बढ़ाने में सक्षम है। एक्वेरियम बॉक्स में अक्सर 8-10 मछलियां यहां से वहां डगमग डगमगाती रहती है कोशिश करें कि उनमें से किसी एक मछली को आप गौर से देखें और उसे अपनी आंखों से ओझल होने ना दें। ऐसा 4 से 5 मिनट प्रतिदिन करने से आपके एकाग्रता में सुधार होता है। एक्वेरियम बॉक्स को अपने टीवी के ऊपर या नीचे या उसके बगल में रखें इससे आप जब भी टीवी देखेंगे तो आपको बगल में मछलियां नजर आएंगी और जिस दिन ऐसा हुआ कि आपको टीवी देखते वक्त एक्वेरियम में मचलती हुई हिलती हुई मछलियां नजर नहीं आई उस दिन आप समझ लीजिए आपकी कंसंट्रेशन लेवल में कुछ सुधार होना शुरू हो गया है। आपने अक्सर देखा होगा कुछ अच्छे और बड़े घरों में मछलियों का एक्वेरियम उनके टीवी के ठीक ऊपर या नीचे रखा होता है इसकी वजह यही होती है वह लोग भी अपना और अपने बच्चों का कौनसेंट्रेशन बढ़ाने के लिए ऐसा करते हैं।

मोमबत्ती की लौ से बढ़ता है कंसंट्रेशन

आप तीन से पांच मोमबत्तियां जला लें और उन्हें कुछ दूरी पर रख दें ध्यान रहे उन्हें एक दूसरे से ज्यादा दूरी पर ना रखें उन्हें एक दूसरे के आस पास ही रखें। अब उन पांचों मोमबत्तियों की लौ को आप गौर से देखना शुरू करें धीरे-धीरे 5 में से तीन मोमबत्ती की लौ पर अपना फोकस करें और 2 से 3 मिनट के बाद आपको सिर्फ एक मोमबत्ती की लौ दिखनी चाहिए और कुछ समय बाद उस मोमबत्ती की लौ में से गुजरती हुई प्रकाश आपको देखना चाहिए मोमबत्ती नहीं दिखनी चाहिए। जब आप इस स्टेज पर पहुंच जाएंगे तो मान के चलिए आप के कोसेंट्रेशन में काफी ज्यादा सुधार हो चुका होगा।

सिंगल स्टंप्स से करें प्रैक्टिस

एकाग्रता बढ़ाने के लिए आपको सिंगल स्टंप से प्रैक्टिस करनी चाहिए। आपको करना इतना है कि बीच वाला स्टंप निकाल ले और बाकी दोनों स्टंप को वही लगा रहने दें। अब शैडो प्रैक्टिस करते हुए दोनों स्टंप के बीच स्ट्रेट ड्राइव खेलने की कोशिश करें ऐसा आप कम से कम 20 से 25 बार करें और यह जरूर गिने की कितनी बार आपका स्टंप दूसरे स्टांप से नहीं टकराया इसे निरंतर प्रतिदिन अभ्यास करने से आपकी एकाग्रता में सुधार होगा। इसके अलावा प्रैक्टिस करते वक्त टेनिस या प्लास्टिक बॉल से सिंगल स्टंप से बैटिंग करें और यह नोट करने की कोशिश करेंगे कितनी बार आपके स्टंप और गेंद का बीचो-बीच मेल हो पाया है। और कितनी बार भीतरी और बाहरी किनारा लगा। इसे निरंतर प्रैक्टिस करें धीरे-धीरे जब आप इस में महारत हासिल कर लेंगे तो आप पाएंगे कि आप ज्यादातर संपर्क दोनों के बीचो-बीच कर पा रहे हैं। जब ऐसा होना शुरू होगा तो मान लीजिए आपके कंसंट्रेशन में सुधार होना शुरु हो चुका है।

Cricket match FAQ

विराट कोहली ने 23,000 रन किस टीम के खिलाफ पूरे किये?

विराट ने यह कारनामा इंग्लैंड टीम के खिलाफ टेस्ट मैच में किया।

विराट से पहले 23000 अंतराष्ट्रीय रन्स का रिकॉर्ड किस खिलाडी के नाम पर था?

विराट से पहले 23000 अंतराष्ट्रीय रन्स का रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर के नाम पर था।

विराट को अंतराष्ट्रीय 23,000 रन बनाने में कितनी परियां लगी?

विराट ने अंतराष्ट्रीय 23,000 रन 490 पारियां खेल कर पूरी की। जबकि सचिन को 522 पारियां खेलनी पड़ी थी।

विराट ने किसकी गेंद खेल कर 23000 रन के आंकड़े को छुआ?

विराट ने इंग्लैंड के तेज़ गेंदबाज़ जेम्स एंड्रेसन की गेंद पर चौका लगाकर 23,000 रनो का माइलस्टोन टच किया। विराट जब इंग्लैंड के खिलाफ बल्लेबाज़ी करने आये थे तो वे 22999 रन पर थे।

विराट कोहली को बाकी खिलाडी और उनके कोच प्यार से किस नाम से बुलाते हैं?

विराट कोहली को खिलाडी और उनके कोच प्यार से चीकू नाम से बुलाते हैं। यह नाम उनके कोच ने उन्हें बचपन में दिया था क्योंकि वे काफी गोल मटोल थे।


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top
How to play yorker ball in cricket ICC Women’s World Cup 2022 Schedule Under 19 Cricket World Cup 2022 India Squad Irfan Pathan becomes father again Joe Root breaks Sachins Record