लड़कियों के आईपीएल में सिलेक्शन कैसे होता है

Spread the love

यदि आप भी क्रिकेट खेलती हैं तो सोचती होंगी की लड़कियों के आईपीएल में सिलेक्शन कैसे होता है? लड़की का आईपीएल कैसे खेले या फिर लड़कियों के आईपीएल में कैसे जाएं! आज आपके इन सभी सवालों के जवाब आपको हम देने आए हैं और साथ ही यह भी बताएंगे कि लड़कियों का आईपीएल कब से शुरू होने वाला है।

 हर लड़की जो क्रिकेट खेलना चाहती है जानना चाहती है कि लड़कियों के आईपीएल में कैसे जगह बनाएं अगर आप भी उनमें से एक हैं तो इस आर्टिकल को ध्यान से अंत तक पढ़े और यकीनन आपको सही मार्गदर्शन मिलेगा।

यह आर्टिकल अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें ताकि यह जरूरी जानकारी उन तक भी पहुंच सके। 

लड़कियों का आईपीएल कब से शुरू होगा

दादा की अध्यक्षता में बीसीसीआई ने अपनी कमर कस ली है और अच्छी खबर यह है कि 2023 तक बोर्ड ऑफ क्रिकेट कंट्रोल इंडिया यानी बीसीसीआई लड़कियों का आईपीएल करवा सकता है। गौरतलब है कि इस  लीग को शुरू करने के लिए एजीएम की मंजूरी की जरूरत होती है। इसी साल फरवरी में दिए गए एक इंटरव्यू में सौरव गांगुली ने कहा था कि 2023 से महिला आईपीएस शुरू किया जा सकता है और बोर्ड ने इसकी पूरी तैयारी कर ली है। आपको बताते हैं कि लंबे समय से महिला आईपीएल शुरू ना कर पाने पर बीसीसीआई को काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा था अंततः बीसीसीआई ने एक अच्छा फैसला लेते हुए लड़कियों का आईपीएल शुरू करने की बात खुलकर सामने कही है। सूत्रों के अनुसार 2023 महिला आईपीएल में लगभग 5 से 6 टीमें प्रतिभाग कर सकती हैं। 

लड़कियों के आईपीएल में सिलेक्शन कैसे होता है

जहां तक सवाल है लड़कियों के आईपीएल में सिलेक्शन प्रोसेस का तो इसमें कुछ नया नहीं है। जिन दरवाजों से भारत की महिला क्रिकेट टीम में सिलेक्शन होता है उन्हीं दरवाजों से आप लड़की का आईपीएल खेल सकती है। आइए समझते हैं विस्तार में:

लड़की के आईपीएल में कैसे जाएं – आईपीएल में सिलेक्शन पाने के लिए आपको डोमेस्टिक क्रिकेट खेलना होगा और डोमेस्टिक क्रिकेट में लगातार अच्छा प्रदर्शन करके सिलेक्टर्स का ध्यान अपनी ओर खींचना होगा। अब आप जरूर सोच रहे होंगे कि डोमेस्टिक क्रिकेट कैसे खेले तो आपको बता दें की डोमेस्टिक यानी घरेलू क्रिकेट तक पहुंचने के लिए आपको सबसे पहले डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट खेलना होगा उसके बाद स्टेट लेवल क्रिकेट खेलना होगा और अंत में जाकर आप आईपीएल तक पहुंच सकते हैं। यदि आपको भारत की महिला क्रिकेट टीम में भी जाना है तो भी आपको इसी प्रक्रिया से गुजरना होगा। अब सिलसिलेवार तरीके से इन तमाम क्रिकेट प्रतियोगिताओं को समझने की कोशिश करते हैं ताकि आप यह जान सके कि लड़कियों का आईपीएल कैसे खेले।

 लड़कियों का आईपीएल खेलने के लिए आपको यह 3 सीढ़ियां पार करनी होंगी

  1.  डिस्टिक लेवल क्रिकेट
  2.  स्टेट लेवल क्रिकेट
  3.  डोमेस्टिक क्रिकेट

जी हां अगर आप इन 3 स्टेट्स को समझ गए तो निश्चित रूप से आप लड़कियों के क्रिकेट में अपना करियर बना सकेंगे और लगातार अच्छे प्रदर्शन के बाद लड़कियों के आईपीएल में खेल सकेंगी।

महिला डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट कैसे खेले

चाहे महिला भारतीय क्रिकेट टीम में सिलेक्शन की बात हो या फिर लड़कियों के आईपीएल में सिलेक्शन की बात हो दोनों प्रक्रिया एक दूसरे के समांतर है और आपको सबसे पहले अपने जिले से डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट खेलना होगा। चिंता मत कीजिए डिस्ट्रिक्ट में सिलेक्शन के लिए पैसों की जरूरत नहीं पड़ती अगर जरूरत पड़ती है तो सिर्फ टैलेंट और पैशन की। और लगातार अभ्यास के बाद एक सही रणनीति के साथ प्रैक्टिस कर अपने गेम को सुधारा जा सकता है तथा डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट लीग में अच्छा प्रदर्शन करके आगे बढ़ा जा सकता है।

डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट ट्रायल्स हर वर्ष होते हैं और यह ट्रायल अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग समय पर हो सकते हैं हालांकि अमूमन यह ट्रायल्स फरवरी-मार्च में पूरे हो जाते हैं। डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट ट्रायल की डेट की जानकारी आपको अमर उजाला और दैनिक जागरण जैसे विश्वसनीय अखबार में मिल जाती है। यह अखबार प्रतिवर्ष डिस्टिक क्रिकेट ट्रायल्स डेट की खबर छापते हैं। हर जिले में एक डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन होता है और हर राज्य में एक स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन होता है। ट्रायल्स डेट के बारे में जानने के लिए आप अपने जिले के डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन से भी संपर्क कर सकते हैं। डिस्ट्रिक्ट लेवल क्रिकेट ट्रायल्स के बारे में और भी ज्यादा जानने के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट ट्रायल उम्र – यदि आपकी उम्र 18 वर्ष है, 25 वर्ष हो चुकी है 35 वर्ष हो चुकी है या भले ही 45 वर्ष हो चुकी है इससे फर्क नहीं पड़ता और बीसीसीआई की इस नीति की तारीफ करनी चाहिए की उन्होंने खेल में सच्चे टैलेंट के रास्ते खोल रखे हैं तथा क्रिकेटर बनने की लास्ट ऐज रखी ही नहीं है। “ऐज इज जस्ट अ नंबर” यह बात बिल्कुल सही है अगर आप में क्रिकेट पैशन है तो आप किसी भी उम्र में क्रिकेट खेल सकती हैं।  

ऐज कैटेगरी – अंडर 14, अंडर 16, अंडर-19,  अंडर 23, ओपन ऐज कैटेगरी

स्टेट लेवल क्रिकेट ट्रायल –  यह महिला क्रिकेटर बनने की दूसरी सीढ़ी होती है और यहां तक पहुंचने के लिए आपको डिस्ट्रिक्ट लेवल क्रिकेट यानी पहली सीढ़ी क्रॉस करनी होती है। डिस्ट्रिक्ट लेवल क्रिकेट में लगातार अच्छा प्रदर्शन करने के बाद स्टेट क्रिकेट में कई बार डायरेक्ट सिलेक्शन हो जाता है और स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन पूरे वर्ष आपके प्रदर्शन पर नजर बनाए रखता है ऐसे में स्टेट लेवल ट्रायल आपके लिए काफी आसान हो जाते हैं। यदि आपका डायरेक्ट सिलेक्शन नहीं होता है तो चिंता ना करें स्टेट लेवल के ट्रायल  प्रति वर्ष होते हैं और इसमें वही  खिलाड़ी प्रतिभाग कर सकते हैं जो डिस्ट्रिक्ट लेवल क्रिकेट खेल रहे हो। 

डोमेस्टिक क्रिकेट ट्रायल –  स्टेट लेवल क्रिकेट में लगातार साल भर अच्छा प्रदर्शन करने पर सिलेक्टर्स आपको किसी घरेलू टीम में मौका जल्दी देती है। रणजी ट्रॉफी को घरेलू क्रिकेट में सबसे ज्यादा लोकप्रियता हासिल है। दिलीप ट्रॉफी, विजय हजारे ट्रॉफी भी घरेलू क्रिकेट के अंतर्गत आते हैं जो खिलाड़ियों को मौका देते हैं। यदि आप डोमेस्टिक क्रिकेट तक पहुंच गए तो मान लीजिए आप भारतीय महिला क्रिकेट टीम में या फिर लड़कियों के आईपीएल में जगह बनाने के सबसे नजदीक पहुंच चुके हैं। अब आपको लगातार पूरे साल अच्छा प्रदर्शन करना होगा और क्रिकेट सिलेक्टर्स हर खिलाड़ी पर अपनी निगाहें बनाए रखते हैं तथा सबसे ज्यादा डोमेस्टिक क्रिकेट खेल रहे खिलाड़ियों को मौके मिलते हैं।   

भारत की अंडर-19 में सिलेक्शन कैसे होता है –  डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट, स्टेट क्रिकेट और डोमेस्टिक क्रिकेट खेल रहे हैं खिलाड़ियों के बीच से ही कुछ खिलाड़ियों का सिलेक्शन भारत की अंडर-19 टीम मे होता है। 

सारांश – महिला आईपीएल खेलने के लिए आपको सबसे पहले डिस्ट्रिक्ट फिर स्टेट क्रिकेट तथा अंत में  डोमेस्टिक क्रिकेट में खेलना होगा और लगातार अच्छा प्रदर्शन करना होगा। इसी प्रदर्शन के आधार पर आपका सिलेक्शन कलेक्टर द्वारा भारत की महिला आईपीएल क्रिकेट टीम में होता है।  और अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए गए प्रश्नों को जरूर देखें: 

faq

महिला आईपीएल खेलने के लिए क्लब क्रिकेट खेलना जरूरी है या नहीं?

लड़कियों का आईपीएल खेलने के लिए क्लब क्रिकेट खेलना जरूरी नहीं है बल्कि आपको डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट खेलना चाहिए और उसके बाद स्टेट तथा डोमेस्टिक क्रिकेट खेल कर आप आईपीएल तक पहुंच सकते हैं।

महिला डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट ट्रायल्स में कितने पैसे लगते हैं?

महिला डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट ट्रायल्स बीसीसीआई द्वारा डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन की सहायता से कराए जाते हैं और खिलाड़ियों को कोई पैसा नहीं देना होता।

लड़कियों का आईपीएल खेलने के लिए न्यूनतम उम्र कितनी होनी चाहिए

अगर आप में टैलेंट है तो आईपीएल सिलेक्टर्स आपको 16 साल की उम्र में भी लड़कियों के आईपीएल में खेलने का मौका दे सकते हैं।

लड़कि का आईपीएल खेलने के लिए अधिकतम उम्र कितनी है?

बीसीसीआई द्वारा क्रिकेट के किसी भी फॉर्मेट में अधिकतम उम्र की कोई सीमा नहीं रखी गई है अतः आप  40 – 45 वर्ष की उम्र में भी लड़कियों का आईपीएल खेल सकती हैं। बस आपकी फिटनेस इस लेवल की होनी चाहिए कि आपका साथ दे सके। 

क्रिकेट में ओपन ऐज कैटेगरी क्या होता है?

जब किसी खिलाड़ी की उम्र 23 वर्ष से अधिक हो जाती है तब वह ओपन ऐज कैटेगरी के माध्यम से क्रिकेट ट्रायल्स में प्रतिभाग कर सकता है।

क्रिकेट में ओपन ऐज कैटेगरी में प्रतिभाग करने की अधिकतम उम्र क्या है?

बीसीसीआई द्वारा इस कैटेगरी में कोई अधिकतम उम्र नहीं रखी गई है।

यह भी पढ़ें

गर्ल क्रिकेटर कैसे बनें


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top
यॉर्कर बॉल कैसे खेला जाता है आई सी सी महिला वर्ल्ड कप 2022 शेडूल अंडर 19 क्रिकेट वर्ल्ड कप 2022 भारतीय दस्ता इरफ़ान पठान बने पिता दोबारा जो रुट ने सचिन का रिकॉर्ड तोडा