विराट कोहली वर्सेस सचिन तेंदुलकर कौन बैस्ट है

Spread the love

विराट कोहली वर्सेस सचिन तेंदुलकर कौन बैस्ट है? जी हां यह सवाल आए दिन क्रिकेट जगत में चर्चा का विषय बना रहता है, आज हम विश्लेषण करेंगे विराट कोहली और सचिन तेंदुलकर में बेहतर बल्लेबाज कौन है? पूरा क्रिकेट जगत अक्सर विराट कोहली और सचिन तेंदुलकर में तुलना करता है और यह जानना चाहता है की ज्यादा अच्छा बल्लेबाज कौन है? तो आज हम इस बात का विश्लेषण करेंगे तथा कुछ आंकड़ों के साथ एवं कुछ शॉट सिलेक्शन तथा किस्सों के साथ आपको यह बताएंगे कि दोनों में से ज्यादा बेहतर बल्लेबाज कौन है।

Table of Contents

विराट कोहली वर्सेस सचिन तेंदुलकर कौन बैस्ट है

यूं तो दोनों खिलाड़ी अपने लिए एक अलग मकाम रखते हैं और दोनों में तुलना करना भी बेईमानी सा लगता है क्योंकि दोनों ही अपने-अपने स्तर पर महान बल्लेबाज हैं। किंतु प्रतिस्पर्धा की इस दुनिया में अक्सर 2 महान लोगों के बीच लोग यह तलाशने की कोशिश करते हैं कि ज्यादा बेहतर कौन है। जहां सचिन तेंदुलकर महज 16 साल की उम्र में क्रिकेट जगत में पर्दा परण ही नहीं बल्कि छा चुके थे वही विराट कोहली भी अंडर-19 वर्ल्ड कप में कप्तानी कर अपनी टीम को जिताने के बाद भारतीय टीम का हिस्सा बने थे। हालांकि महज 16 वर्ष में भारतीय टीम का सदस्य बनना एक बड़ी बात है इसलिए सचिन तेंदुलकर का नाम पूरे विश्व में गूंजने लगा था। सत्य यह भी है कि किसी भी खिलाड़ी को लंबे अरसे तक टीम का हिस्सा बने रहने के लिए लगातार प्रदर्शन करना होता है जो सचिन ने मात्र 16 वर्ष की उम्र से शुरू कर दिया था। विराट कोहली भी ज्यादा पीछे नहीं है और वह भी प्रदर्शन के आधार पर कभी टीम से बाहर नहीं हुए हैं दोनों ही खिलाड़ी शुरुआत में काफी नीचे बल्लेबाजी करने आते थे जिसे उन्होंने अपने लगातार अच्छे प्रदर्शन से बदला और टॉप ऑर्डर के बल्लेबाज बन गए। जब सचिन तेंदुलकर नए-नए आए थे छठे और सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करते थे विराट कोहली पांचवें नंबर के आसपास ही बल्लेबाजी करते थे। आज की तारीख में सचिन तेंदुलकर को अब तक दुनिया का बेस्ट ओपनर बल्लेबाज माना जाता है वहीं विराट कोहली को तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने वाला बेस्ट खिलाड़ी माना जाता है।

सचिन और विराट के शॉर्ट सिलेक्शन

अच्छे बल्लेबाज की निशानी उसका शॉट सिलेक्शन होता है ना कि हर गेंद पर शार्ट मारना। दोनों ही बल्लेबाजों में एक बात समान है, वे सिंगल नहीं मिस करते हैं तथा उनके शॉट सिलेक्शन अचूक होते हैं। दोनों बल्लेबाज ऑफ साइड में अच्छा प्रहार करते हैं तथा दोनों के ही स्टेट ड्राइव आला दर्जे के हैं। आज की तारीख में विराट कोहली का कवर ड्राइव सबसे बेस्ट माना जाता है जिसे वे शायद ही कभी मिस करते हैं वैसे ही सचिन तेंदुलकर को अब तक स्ट्रेट के लिए जाना जाता है, सचिन क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले चुके हैं किंतु उनसे बेहतर स्ट्रेट ड्राइव आज भी कोई नहीं लगा पाता है। 

पुल तथा हुक शॉट कौन अच्छा खेलता है

 2003 वर्ल्ड कप के फाइनल का पुल शॉट सचिन भुलाना चाहेंगे जो उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के महान गेंदबाज ग्लेन मैकग्रा के खिलाफ मारने की कोशिश की थी और गेंद हवा में खड़ी कर दी थी जिसे मैकग्रा ने हि अपनी गेंद पर कैच कर लिया था। उसके अलावा सचिन ने कई ऐसे पुल तथा हुक शॉट लगाए हैं जो अविश्वसनीय है। 2003 वर्ल्ड कप में ही सचिन ने  इंग्लैंड के तेज गेंदबाज कैडिक की गेंद को पुल शार्ट के जरिए स्टेडियम के बाहर भेज दिया था। जबकि विराट कोहली पुल शार्ट के सामने कई बार संघर्ष करते नजर आए हैं और पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने उन्हें कई बार शॉर्ट पिच गेंद से परेशान किया है। सचिन तेंदुलकर शॉर्ट पिच गेंद को काफी जल्दी पढ़ लेते हैं और पूरी तरीके से गेंद के नीचे आ जाते हैं तथा उसकी लाइन भी पकड़ लेते हैं जिससे उन्हें पुल शॉट खेलने में आसानी होती है। वही विराट कोहली पुल शॉट खेलते वक्त गेंद के नीचे नहीं आ पाते हैं जिससे उन्हें शॉट खेलने में थोड़ी परेशानी होती है।

क्रिकेट में फ्लिक शॉट कौन अच्छा खेलता है

 यदि भारतीय टीम की बात करें तो आज के भारतीय क्रिकेट कोच राहुल द्रविड़ को फ्लिक शॉट का मास्टर माना जाता रहा है, उनके अलावा रिकी पोंटिंग, लक्ष्मण और सचिन के फ्लिक भी बेहतरीन रहे हैं। यदि आज के दौर की बात की जाए दो शायद ही विराट कोहली से बेहतर फ्लिक शॉट कोई भी खिलाड़ी लगा सकता है।  हालांकि आज के दौर में पाकिस्तान के ओपनर बल्लेबाज बाबर आजम का नाम बार-बार उनके बेमिसाल शॉट्स के कारण सामने आता है। हमने कई बार विराट कोहली को फ्लिक शॉर्ट पर छक्का लगाते हुए देखा है और यकीन मानिए ऐसा करना कोई आसान काम नहीं है इसके लिए आप की कलाइयों में जान होनी चाहिए तथा बल्लेबाजी में टाइमिंग होनी चाहिए तभी आप ऐसा कर पाएंगे।

दबाव में बल्लेबाजी करना

इसमें कोई दो राय नहीं सचिन तेंदुलकर के पास दुनिया में सबसे ज्यादा शॉर्ट्स है और वे एक ही गेंद को चार अलग दिशाओं में खेल सकते थे। हम यहां 1996 के सचिन की बात कर रहे हैं जब दुनिया के महान गेंदबाज भी उनके नाम से कांपा करते थे और सारी रणनीति किसी टीम के खिलाफ बनाने के बजाय मात्र एक बल्लेबाज के खिलाफ बनाई जाती थी और वह थे सचिन तेंदुलकर। किंतु एक हकीकत यह भी है कि विराट कोहली ने वह कर दिखाया है जो शायद ही अब तक किसी ने किया था। विराट ने दूसरी पारी में बल्लेबाजी करते हुए सचिन से भी ज्यादा शतक लगाए हैं तथा उनसे ज्यादा बार मैच जिताया है जिससे साबित होता है कि विराट दबाव में सचिन से अच्छी बल्लेबाजी करते आए हैं।

सचिन और विराट के रिकॉर्ड

पूरे विश्व में सबसे ज्यादा शतक सचिन तेंदुलकर के नाम दर्ज है। सचिन तेंदुलकर ने 100 अंतरराष्ट्रीय शतक लगाए है जिसमें से 49 शतक एकदिवसीय क्रिकेट में तथा 51 शतक टेस्ट क्रिकेट में लगाए हैं। शायद यह आंकड़े और भी बेहतर हो सकते थे यदि सचिन अचानक से सन्यास नहीं लेते, सचिन ने जिस वक्त सन्यास लिया उस समय भारतीय टीम के मुख्य कोच संदीप पाटिल हुआ करते थे। बहरहाल, आज की तारीख में यदि किसी एक खिलाड़ी का नाम लेने के लिए किसी भी व्यक्ति या क्रिकेट एक्सपर्ट को कहा जाए तो बेहिचक सबके जेहन में एक ही नाम आता है और वह नाम है किंग कोहली का। जी हां विराट कोहली को किंग कोहली ऐसे ही नहीं कहा जाता इसके लिए उन्होंने कड़ी तपस्या की है और क्रिकेट एक्सपर्टस की माने तो वह ना सिर्फ सचिन का रिकॉर्ड तोड़ देंगे बल्कि कुछ ऐसे नए रिकॉर्ड बना देंगे जो अगले कई दशक तक टूट नहीं पाएंगे। 

हालांकि, जब सचिन ने 100 शतकों का रिकॉर्ड बनाया था तो कहा जा रहा था कि अभी यह रिकॉर्ड कम से कम 50 सालों तक नहीं हो तोड़ पाएगा किंतु विराट कोहली की करिश्माई बल्लेबाज ने इस विश्व रिकॉर्ड को हासिल करने का मादा दिखाया है। इस बात से कतई इंकार नहीं किया जा सकता कि विराट कोहली का रिकॉर्ड कोई अन्य खिलाड़ी जल्द ही तोड़ दे क्योंकि यह क्रिकेट है और यहां कोई भी रिकॉर्ड हमेशा के लिए नहीं रहता। उम्मीद है आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया हो।

विराट कोहलीसचिन तेंदुलकर
एकदिवसीय शतक – 43 शतक
टेस्ट मैच शतक – 27 शतक
T20 शतक – 00
कुल अंतरराष्ट्रीय शतक – 70 शतक
एकदिवसीय शतक – 49 शतक
टेस्ट मैच शतक – 51 शतक
T20 शतक – 00
कुल अंतरराष्ट्रीय शतक -100 शतक

क्रिकेट प्रश्न उत्तर

विराट कोहली के शतक कितने हैं?

विराट कोहली के टेस्ट और एकदिवसीय मैचों को मिलाकर 70 शतक है।

विराट कोहली के T20 में कितने शतक हैं?

विराट कोहली ने T20 में अभी तक कोई भी शतक नहीं जढ़ा है।

विराट कोहली के एकदिवसीय में कितने शतक हैं?

 विराट कोहली ने एकदिवसीय मैच में 43 शतक लगाए हैं।

विराट कोहली के टेस्ट मैच में कितने शतक हैं?

विराट कोहली ने टेस्ट मैच में 27 शतक लगाए हैं।

सचिन तेंदुलकर के कितने शतक हैं?

सचिन तेंदुलकर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कुल 100 शतक जड़े हैं।

सचिन तेंदुलकर के एकदिवसीय मैचों में कितने शतक हैं ?

सचिन तेंदुलकर ने एकदिवसीय मैचों में 49 शतक लगाए हैं।

सचिन तेंदुलकर के कितने T20 शतक है?

सचिन तेंदुलकर ने t20 में कोई भी शतक नहीं लगाया है।

सचिन तेंदुलकर के कितने शतक हैं?

 सचिन तेंदुलकर ने टेस्ट मैचों में 51 शतक जड़े हैं।

सचिन का जन्म कब हुआ था?

सचिन का जन्म 24 अप्रैल 1973 को हुआ था।

सचिन तेंदुलकर की हाइट कितनी है?

 सचिन की हाइट 1.65 मीटर है।

विराट कोहली की हाइट कितनी है?

विराट की हाइट 1.75 मीटर है।

यह भी पढ़ें

सचिन तेंदुलकर की कहानी

बेस्ट बैटिंग टिप्स सचिन तेंदुलकर

विराट कोहली का जीवन परिचय


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top
यॉर्कर बॉल कैसे खेला जाता है आई सी सी महिला वर्ल्ड कप 2022 शेडूल अंडर 19 क्रिकेट वर्ल्ड कप 2022 भारतीय दस्ता इरफ़ान पठान बने पिता दोबारा जो रुट ने सचिन का रिकॉर्ड तोडा