इंडिया vs दक्षिण अफ्रीका u19 वर्ल्ड कप 2022

world cup
Spread the love

अंडर 19 वर्ल्डकप का चौथा मैच भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच 15 जनवरी को गयाना के प्रोविडेंस स्टेडियम में खेला गया। यह मैच भारत ने जीता तथा मैच के हीरो कप्तान यश ढुल और स्पिन गेंदबाज़ विक्की ओस्तवाल बने।

इंडिया vs दक्षिण अफ्रीका u19 वर्ल्ड कप

भारत विश्व में सबसे अधिक 4 बार आई सी सी अंडर 19 वर्ल्ड कप का ख़िताब जीत चुका है और 5वि बार इस ख़िताब को जीतने के मंसूबे से गया है। भारत ने अपने इरादे पहले ही मैच में दिखा दिए हैं और अपने सफर का आगाज़ जीत के साथ किया है। 15 जनवरी को भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच हुए मैच में भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 45 रनों से हरा दिया। दक्षिण अफ्रीका ने टॉस जीता और भारत को बल्लेबाज़ी के लिए निमंत्रण दिया। किन्तु भारतीय टीम पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 46.5 ओवर में महज़ 232 रनों पर ऑल आउट हो गई।

जवाबी कारवाही के इरादे से उतरी दक्षिण अफ्रीकी टीम 45.4 वर्ष में महज़ 187 रन ही बना सकी।

कप्तान यश ढुल और स्पिनर विक्की ओस्तवाल बने हीरो

भारत अंडर 19 क्रिकेट टीम के कप्तान यश ढुल और स्पिनर विक्की ओस्तवाल रहे मैच के हीरो। कप्तान ढुल ने 82 रन की बेहतरीन पारी खेली थी और स्पिनर विक्की ने बेहतरीन स्पिन गेंदबाज़ी का जलवा दिखाते हुए 5 विकेट झटके। विक्की को बेहतरीन स्पिन गेंदबाज़ी के लिए मैन ऑफ़ थे मैच चुना गया। विक्की ओस्तवाल ने काफी खिफायति गेंदबाज़ी की और महज़ 28 रन देकर 5 विकेट झटके उनके आलावा राज बावा ने भी 47 रन देकर 4 विकेट हांसिल किए।

भारतीय टीम 232 रन पर सिमटी

भारत की शुरुआत काफी ख़राब रही, भारत को टॉस हरने के बाद पहले बल्लेबाज़ी करनी पड़ी और वे 50 ओवर भी पूरे नहीं खेल पाए तथा 46.5 ओवर में ही 232 रनो पर पूरी टीम पवेलियन लौट गई। बल्लेबाज़ी करने उत्तरी भारतीय टीम ने मात्र 11 रन के स्कोर पर सलामी बैलेबाज़ों के विकेट खो दिए। उसके बाद मैदान में शेख राशिद और कप्तान यश ढुल उतरे तथा इन दोनों ने भारत की लड़खड़ाती हुई पारी को सजाया और संवारा और तीसरे विकेट के लिए 71 रनों की साझेदारी की।

रशीद लय में लग रहे थे किन्तु वे 54 गेंदों में 31 रन बना कर आउट हो गए। रशीद के आउट होते ही कप्तान पर और भी दबाव बढ़ गया था किन्तु वे डगमगाए नहीं तथा बाकी बल्लेबाज़ों के साथ मिलकर स्कोरबोर्ड को आगे बढ़ाते रहे। निशांत सिंधु, राजा बावा और कौशल ताम्बे ने छोटी मगर अहम् पारियां खेलीं तथा इन सबने यश के साथ साझेदारियां निभाईं और टीम के स्कोर को 200 के पार पहुँचाया। कप्तान यश बेहतरीन अंदाज़ में खेल रहे थे किन्तु वे रन आउट हो गए और उनके रन आउट होते ही पूरी टीम 46.5 ओवर में 232 रन पर ही सिमट गई।

यश की कप्तानी पारी

भारतीय अंडर 19 क्रिकेट कप्तान यश ने भारत की तरफ से सबसे ज़्यादा 82 रन बनाए। उनके अलावा निशांत सिंधु 27 रन, रशीद 31 रन, राज बावा 13 रन तथा कौशल ताम्बे 35 रन। इनके आलावा टीम इंडिया के 6 बल्लेबाज़ दस का आंकड़ा भी नहीं छू सके। रघुवंशी 5 रन, हरनूर सिंह 1 रन, दिनेश बाना 7, विक्की ओस्तवाल 9 रन, राजवर्धन और रवि कुमार तो खता भी नहीं खोल सके।

दक्षिण अफ्रीका की ख़राब शुरुआत

50 वर्ष में 233 रन के छोटे टारगेट को हांसिल करने उत्तरी दक्षिण अफ्रीकी टीम की शुरुआत बेहद ख़राब रही और पहले ओवर में ही शून्य पर अपना पहला विकेट खो बैठी। भारतीय गेंदबाज़ राजवर्धन हंगरगेकर ने ज़बरदस्त गेंदबाज़ी का मुआयना पेश करते हुए दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज़ जॉन कन्निघम को मैडन ओवर के साथ पवेलियन भेजा। शुरुआती झटके से उबरते हुए दक्षिण अफ्रीका के वैलिंटाइन किटीमें और डेवल्ड ब्रेविस ने दूसरे विकेट के लिए 58 रन की साझेदारी की। लेकिन जल्द ही दक्षिण अफ्रीका को एक और झटका लगा और वायलिन वैलिंटाइन 33 गेंद खेल 25 रन पर आउट हुए। इसके बाद दक्षिण अफ्रीका सम्भल नहीं पाया और 83 के स्कोर पर जी जी मैरी के रूप में अपना तीसरा विकेट भी गवा दिया, मैरी केवल 8 रन बना सके जिसके लिए उन्होंने 29 गेंदे भी खेली। मैरी भारतीय स्पिनर विक्की ओस्तवाल का शिकार बने वे विकेटकीपर दिनेश बान द्वारा विकेट के पीछे लपके गए।

ब्रेविस की शानदार 65 रन की पारी

ब्रेविस की शानदार 65 रन की पारी भी दक्षिण अफ्रीका को जीत नहीं दिला सकी। ब्रेविस राजा बावा के शिकार बने और बावा ने ब्रेविस को यश के हाथों कैच आउट करवाया। हार्डन और ब्रेविस के बीच 91 गेंदों पर 55 रन की शानदार साझेदारी को बावा ने तोडा, यश ने ब्रेविस का शानदार कैच मिड ऑफ में लपका। सिमिलाने को झेलना पड़ा बावा का कहर और राजा बावा ने उन्हें महज़ 6 रन की निजी स्कोर पर क्लीन बोल्ड किया तथा अपना दूसरा शिकार बनाया।

विक्की ओस्तवाल 5 विकेट लेकर बने मन ऑफ़ द मैच

विक्की ने 5 विकेट झटके और अंडर 19 विश्वकप में एक पारी में पांच विकेट लेने वाले सातवे गेंदबाज़ बने। मैथ्यू बोस्ट को विक्की ओस्तवाल ने अपना पांचवा शिकार बनाया उन्हें विकी ने राजवर्धन हगरेकार के हाथों कैच आउट करवाया। के रूप में दक्षिण अफ्रीका ने अपना 9वा विकेट गवाया, मैथ्यू बोस्ट महज़ 8 रन ही बना सके।

भारत दक्षिण अफ्रीका का अंडर 19 विश्वकप रिकॉर्ड

भारत ने पिछले 6 में से 5 मुकाबले दक्षिण अफ्रीका से जीते हैं ऐसे में भारत का पलड़ा दक्षिण अफ्रीका से भारी है दिखता है। किन्तु विश्कप में भारत और दक्षिण अफ्रीका बराबर दिखती हैं क्योंकि अपने 8 विश्वकप मुकाबलों में दोनों टीमों ने 4-4 मुकाबले जीते हैं।

सबसे अधिक बार U19 विश्वकप जीतने का रिकॉर्ड भारत के नाम

भारत ने आई सी सी अंडर 19 क्रिकेट वर्ल्ड कप सबसे अधिक बार जीतने का कारनामा किया है। भारत ने अब तक 4 बार यह ख़िताब जीता है। भारत ने अपना पहला अंडर 19 विश्वकप वर्ष 2000 में जीता था उसके बाद 2008, 2012 तथा 2018 में भारत ने वर्ल्ड कप अंडर 19 के ख़िताब हांसिल किए।


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top
यॉर्कर बॉल कैसे खेला जाता है आई सी सी महिला वर्ल्ड कप 2022 शेडूल अंडर 19 क्रिकेट वर्ल्ड कप 2022 भारतीय दस्ता इरफ़ान पठान बने पिता दोबारा जो रुट ने सचिन का रिकॉर्ड तोडा